Welcome back to My Blog Pradeeptomar.com : Advantages of Blogging
Advertisements
Advertisements

सावधान : आपके बिज़नीस को कोई हेक ना कर ले - online frauds in india

यहा मे ऑनलाइन होने वाले सारे फ्रॉड के बारे मे नही बता रहा हू, पर ये भी एक प्रकार है ऑनलाइन फ्रॉड का.. आज आप अगर ये मेरी पोस्ट पड़ रहे तो आशा है की जो ऑनलाइन चीटिंग हो रही है इससे परिचित रहेंगे. और अपने आप को और अपने लोगो को बताएँगे.
इस ऑनलाइनफ्रॉड को मे एक कहानी के मध्याम से बताना चाहूँगा . शायाद मेरी बात आपके समझ मे आ जाए. इसलिए इस लेख को ज़्यादा से ज़्यादा शेयर करे.

पिंकू अपनी पड़ाई को ख़त्म करके कुछ काम करने की सोच रहा था इसी उलझन मे पड़ा था की बिज़्नेस करे या नौकरी. इसी उलझन मे पड़ा हू सोच मे बैठा था. तभी उसके कमेरे मे पिता जी आते है और उसे देखते ही समझ जाते है. और पिंकू को अपने बिज़्नेस मे हाथ बटाने को कहा . पिंकू भी खुश हो गया. सोचा पिता के प्रिंटिंग प्रेस के काम देख लूँगा.

आज तो आप जानते ही की कंप्यूटर और इंटरनेट का जमाना है. उसे जब भी समय मिलता इंटरनेट पर खोज करता की कैसे पिता के बिजानीश को आगे बदाया जाए. आप ये भी जानते होंगे की आज बिज़्नेस से संबंधित बहुत सारे पॉर्टल्स चल रहे है. वो अपने बिज़्नेस को इन पॉर्टल्स पर रिजिस्टर कर लेता है सोचा बिज़्नेस से संबंधित फोन या ई- मेल्स आएगे. आगे अब जो उसके साथ जो होगा उसे पड़कर आप चौक जाएगे.

पिंकू सोचता है की शायद अब हमे ज़्यादा विज निस मिलने लगे इसके कुछ दिन बाद उस उन्ही किसी एक पोर्टल से फोन आता है.कि आपने हमारे पोर्टल पर रिजिस्टर कीया है. अब से आपको फ्री मे आपके पास फोन व ई-मेल्स आएँगे उसके साथ ही उसने कहा "अगर आप हमारी पैड सर्वीसज़ ले ले तो आपको जल्दी और ज़्यादा कस्टमर मिलेंगे. आपके फाय्दे होंगे की :
आप हमारे या लिस्टेड कोम्पनी मे सबसे उपेर आएँगे.
आपके लिए फ्री मे वेबसाइट का नाम देंगे.
आप अपने प्रॉडक्ट को ऑनलाइन बेंच सकते है.
ऑनलाइन आप पेमेंट माँगा सकते है.
सारा भारत आपकी दूकना या बिज़्नेस को जानेगा.
हमारे यहा से एक सेल्स पर्सन मिलेगा जो ऑनलाइन आपके लिए बिज़नेस डुडेगा. आदि आदि .

अब होता क्या है. जो सेल्स व्याक्ति मिला था सेल को बड़ाने या लाने के लिए लेकिन वही फ़ोन करके बोलता है. की श्रीमान आप अगर हम हमारी ये सर्विस भी इस्तेमाल करते तो आप लाखो कमा सकते थे पर ये आपका दुर्भाग्य है. पिंकू ने कहा भाई साब जब १०००० हज़ार खर्च कर दिया तो ५००० और सही. कम से कम जल्दी फोन या ई-मेल्स तो आए.

इसके कुछ महीने बाद फिर फोन आता है. और पूछता है की सर आपके पास अब फोन और ई-मेल्स तो आनी लगी होंगी. पिंकू खिस्याके बोला की फोन तो आते है बिज़्नेस नही. फ़ोन करने वाला व्यक्ति बोलता है की "सर लोग आपकी कंपनी को देखते तो पर भरोशा नही करते" . पिंकू चौक कर बोला "वो क्यू"  व्यक्ति बोलता है की "सर आपकी वेब पेज पर आपकी दुकान के पते का वेरीफिक्शन सील नही है. हमारी कंपनी की स्पेशल टीम है जो आपकी दुकान का वेरीफिक्शन करता है फिर आपके वेब पेज पर सील लगा दी जाएगी इसका खर्चा ३५००० का है." पिंकू सोचता सही बात है बिना वेरीफिक्शन के कोन मुझे फोन करेगा वो दोस्तो से उधार माँग कर पैसा जमा कर देता आई सोचता है की जब फ़ोन आने लगेगे, विज निस बाड़ेगा तो उधारी ख़त्म कर देगा.

लेकिन फिर भी उसके मतलब के फोन नही आते. ना बिज्नीश आता है. कुछ महीनो बाद उस व्यकित का दुबारा फोन आता है और फिर ये कामिया बताता है.
आपकी वेब पेज पर कीवर्ड्स नही है.
आपकी वेब पेज पुराना है
ऑफीस या दुकान का पता का वेरीफिक्शन नही है.
आपका वेब पेज पर ये और वो सील नही है. आदि आदि तरीके से पैसे लेता है. अब आप सोचिए की जो पिंकू अपना काम आगे बदाना चाहता है पर उसे इंटरनेट की दुनिया उसे लूट लेती है.  कैसे उधारी देगा और कैसे अपने काम को जारी रखेगा. आप समझ गये होंगे की मे क्या कहना समझाना चाहता हू. मे ये नही कहना चाहता की सारे पोर्टल फ्रॉड होते है पर अच्छे लोगो के बीच मे बुरे लोगो का होना कोई नयी बात नही है.

how to save from online frauds in india

कैसे बचे और क्या करे ...

  • हो सके तो अपने बिज़नीश को ऑनलाइन लाने के लिए खुद ही डोमेन (वेबसाइट का नाम) और वेब होस्टिंग (वेब स्पेस जहा आपकी वेबसाइट फ़ाइल्स रहती है) को खरीदे.
  • डोमेन और वेब होस्टिंग का कंट्रोल यानी एडमिन लोगिन अपने पास रखे.
  • खुद ही अपने वेब पेज के प्रॉडक्ट और सर्विस को लगाना या हटाना सीखे. हो सके तो किसी को नोकारी पर रख ले.
  • अपने वेब की इन्फर्मेशन को समय समय पर अपडेट करे.
  • अपनी वेब साइट को खुद सोशल साइट्स पर सेयर करे.
  • अपने बिज़नीश से संबंधित कीवर्ड्स को सही से डाले सोचे की लोग आपके बिज़्नेस के बारे लोग क्या सर्च कर सकते है.
  • किसी भी पोर्टल पर रजिस्टर करने से पहले उसके रिव्यू पड़े. क्यूकी ज़रूरी नही आप पहले शिकार हो.
  • इंटरनेट पर दी गयी ज़रूरी नही की सारी सूचनाए या वेबसाइट्स सही हो. हमेशा उसके बारे मे ज़्यादा से ज़्यादा सर्च करे.
  • कोई भी ऑनलाइन खरीदने  या सर्वीस लेने से पहले उसके वर्तमान ग्राहको से बात करके फीडबॅक ले.
मुझे उम्मीद है की जो मे समझाना चाहता हू वो समझ गये होगे. इसलिए इस लेख को ज़्यादा से ज़्यादा शेयर करे. अगर ऐसा कोई और फ्रॉड है तो ज़रूर बताये ताकि दूसरे लोग सुरक्षित रह सके. आपके सुझाव का इंतजार है.

Tags: online frauds, types of online frauds, online frauds complaints, online frauds during e-payment, internet frauds, online frauds meaning, online frauds ppt, online shopping frauds, internet frauds examples, types of online frauds, types of frauds in credit cards, internet scamming, types of frauds in auditing, types of frauds in banks, types of frauds in business,types of financial frauds, types of frauds in accounting, types of frauds pdf, online frauds in india, atm frauds in india, financial frauds in india, internet banking frauds in india, corporate frauds in india, credit card frauds in india, list of corporate frauds in india, corporate frauds in india ppt, corporate frauds in india recent, 

Share this:

Post a Comment

I am waiting for your suggestion / feedbacks, will reply you within 24-48 hours. :-)

Thanks for visit my Blog

 
Back To Top
Copyright © 2014 PradeepTomar : Inspire the bloggers. Designed by OddThemes