Whats New

बाइक में ये टायर डलवाने की गलती न करे?

अगर आप अपनी बाइक में टायर बदलाने की सोच रहे है तो वो गलती मत करना जो मेने की थी। नहीं तो आपके पैसे भी बर्बाद होंगे, आप हादसे का शिकार भी सकते है सकते है या आप कही समस्या में फस सकते है। इसलिए अपने अनुभव के बाद जो मुझे पता चला वो आपको बताता हु। 

मेने 6-7 महीने पहले एक पंचरपुत्र से बाइक का टायर डलवाया, बाइक की सर्विस करवाई तो टायर भी बदलवा लिया। बिल वगैरह की जानकारी नहीं थी। उसने वोला की 2200 टायर देता हु आप सर्विस करवा रहे है और हमारे पक्के ग्राहक है  तो 1700 का डाल दूंगा। मेने सोचा ऑफर भी मिल गया में भी खुश। 

परिणाम क्या निकला -

6-7 महीने बाद बाइक की हवा रिसने लगी। अर्थात दो दिन या तीन बाद बाइक को चेक करू तो हवा नहीं। बड़ा परेशान, पंचर चेक करवाया तो पंचर नहीं निकले, टायर की टोटी भी ठीक लेकिन फिर भी हवा गायब। 

फिर मेरे दोस्त ने बोला की टायर की रिम से हवा लीक तो नहीं हो रही, जब मेने उसे चेक करवाया तो वो शायद सही था। फिर में उसे ही लेकर बाइक एजेंसी के एक वर्कर से मिला और अपनी समस्या बताई। 

उसने बताया की - बाजार में असली माल कम और नकली ज्यादा बिकता है। लोग सस्ते के चक्कर में नकली माल खरीदते है। 

मेने कहा - भाई मेने तो सस्ता महंगा करके नहीं बल्कि दुकान वाले के कहने से डलवा लिया। 

उसने कहा - ज्यादातर रोड पर बैठकर जो टायर बेंचते है वो बिल नहीं देते, अर्थात उनके टायर में गाररंटी और वार्रन्टी जैसी कोई चीज़ नहीं होती। आप लोग बाइक एजेंसी या टायर दुकान पर जाए और बिल के साथ टायर ले।  टायर के नंबर बिल पर जरूर डलवाये। 

मेने सोचा कितने कमाल की बात है ये लोग जहाँ मौका मिलता है वहां लूट लेते है। रही बात जानकारी की तो कोई न कोई जानकारी किसी न किसी के लिए अज्ञानता होती है।  ये बस उसी का फायदा उठाते है। 

किसी पंचर छाप से बिना बिल का टायर न ले। कुछ लोग नकली माल ज्यादा बेंचते है। Counterfeit tire / Fake Tyre / Duplicate Tires in Hindi


और भी होते है नकली टायर (Counterfeit tire) के नुकसान -

  • 5-6 महीने बाद ये अपना आकार खोने लगता है जिससे ये रिम के पास से रिसने लगता है। 
  • रबड़ दूसरी बार या तीसरी इस्तेमाल होने से ये कुछ ही महीने में चटकने लगते है। 
  • टायर से तार निकलने लगते है सिर्फ कुछ ही महीनो में। 
  • रोड पर इनकी ग्रिप अच्छी नहीं होती। ब्रेक लगाते ही बाइक रपट जाती है। 
  • बरसात में इसकी गृप काम नहीं करती तो बरसात में भी स्लिप होने का डर बना रहता है।  
  • नकली टायर में कुछ महीने बाद कही कही फोड़े फुंसी निकल आते है जिससे रोड पर चलाने पर गाडी स्मूथ नहीं रहती।  

Duplicate  / Fake Tire की पहचान -

यहाँ कुछ तरीके बता रहा हु Identify A Fake Tyre -

  • ब्रांड के नाम की गलत स्पेलिंग हैं।
  • कोई कागजी कार्रवाई या बिल या इनवॉइस नहीं मिलता 
  • टायर के ऊपर से BIS नंबर, सीरियल नंबर, Expiry डेट गायब हैं।
  • टायर देखने बिलकुल कमजोर हैं।
  • जिस स्थान से आप उन्हें खरीदते हैं वह पंचर पुत्रो की है। अर्थात ऐसी दुकान जो कभी भी ठेले के साथ गायब हो जाये किसी बड़ी अनहोनी की स्थिति में। 
  • एक नकली लोगो वाला टायर नाम संकेत है कि टायर नकली हैं

क्या न करे -

  • किसी पंचर छाप से बिना बिल का टायर न ले। कुछ लोग नकली माल ज्यादा बेंचते है।
  • बिना बिल के कोई टायर न ख़रीदे, चाहे कितनी भी इमरजेंसी कोई न हो। 
  • बिना एक्सपायरी date देखे टायर न ले। 
  • बिना BIS नंबर के टायर न ले। 
  • बाइक का टायर अपनी मर्ज़ी से मोटा या पतला न ले।  जैसा कंपनी ने लगाकर दिया है वैसा ही हमेशा लगवाए। 

शायद नकली टायर की धंधे और इससे बढ़ते Accident के कारण सरकार ने टायर के लिए नियम बहुत ही सख्त कर दिए है। अगर कमर्शियल वाहन में टायर बदलवा रहे है तो उन नियम को जरूर पता करे। 

No comments

I am waiting for your suggestion / feedbacks, will reply you within 24-48 hours. :-)

Thanks for visit my Blog