What's New :
Sponsored Links

अजब गजब

काम की बातें

प्राकर्तिक औषधियां

How to Remove Shortcut Virus .lnk From Pen drive or USB Drive

If your pan drive is not showing important documents and showing only shortcuts then it may be infected by shortcut virus. If your pandrive does not have any important file then you can try to format it. But if your pan drive contains any important file and you don't want to format it then I am telling you simple steps to remove this virus and recover your pan drive data.

First Step : First Go to start menu and search for "cmd", as it appears in menu then Right Click on it and Click on "Run as Administrator".

Second Step : Now open "My Computer"  and check pan drive letter.

Third Step :  Type ”del<space>*.lnk” (without quote) in cmd window and Press Enter.

Fourth Step : Now type ”attrib<space>-s<space>-r<space>-h<space>*.*<space>/s<space>/d<space>/l ”  ( without quote ) and Press Enter.


It will take few seconds to recover all your important data, now you can open your pan-drive to check your data.

Know, Yes Bank Balance Enquiry by Missed Call USSD Number online.

Do you have "Yes Bank" account and looking for Yes Bank balance enquiry by missed call, mini statement, online statement by balance check USSD code then don't worry.

Stay touch with your Yes Bank account by using missed call facility just giving a missed call.

How to register for missed call facility in Yes Bank?
You can register for Missed Call banking by sending an SMS “YESREG <Customer ID>” from your registered mobile number to (+91-9840909000)

After successful registration what information you can get by using Yes Bank missed call number?

First you can get your YES BANK Account Balance by giving a missed call on 09223920000

Second you can get a list of last 5 transactions (Yes Bank mini statement) by giving a missed call on 09223921111


Are there any conditions for registering mobile number with Yes Bank?
Yes, here are 3 conditions you should know before registering your mobile number:
n case of multiple accounts linked, balance for all the accounts will be sent as SMS on giving a Missed Call, however last 5 transactions will be provided for only the primary account number
To change the primary account number for Missed call Banking, kindly SMS YESDEF <Customer ID><Account No.> to (+91-9840909000)
In case your mobile number is registered against multiple Customer Ids, you will not be able to avail this service

Hurry Up !! Earn Rs.51 by installing "Google Tez payment app"?

How to Earn Rs.51 instantly by installing "Google Tez payment app"?

I think you already know that Google has already launched its UPI based payment application "Tez". So as promotion Google launched this offer or scheme. As per this scheme, you can earn maximum Rs.9000 till 1 April 2018.

Google Tez Signup offer:

Invite your friends, family members or anyone to Google Tez and you will get Rs.51 when your referral makes their first payment. - Download Now

Google Tez Reward Scheme:

Get Tez Scratch Cards (TM) in the app and be eligible to win up to Rs. 1,000 with each eligible transaction above Rs.50. Plus, your weekly transactions. Enrol you in Tez’s Lucky Sunday’s contest where you could win Rs.1 lakh every week. - Download Now

Use Tez for All Your Payment Needs

  •  Pay and receive money directly from your bank accounts
  •  Pay your friends and family anywhere anytime
  •  Multiple layers of security from your bank, UPI, and Google
  •  Transfer money to anyone nearby
  •  Made for India
  •  Paying in shops is easier than ever!
  •  Pay online with Tez


Download Now from Google Play Store. Or  you can Download Now from Google Tez website.


Tags: Google Tez App wallet, Google Tez App register, Google Tez App app, Google Tez App online shopping, Google Tez App login password, Google Tez App app download apk, Google Tez App, Google Tez App offers, UPI, online payments, online wallet,

जरुर जाने की आप ऑनलाइन किस तरह से फ्रॉड (ठगी) का शिकार हो सकते है?

आप ऑनलाइन किस किस तरह से फ्रॉड (ठगी) का शिकार हो सकते है.

By Pradeep Singh Tomar/  New Delhi : आज इन्टरनेट की दुनिया में हर कोई ऑनलाइन ट्रांजेक्सन करना चाहता है. और सरकार भी लोगो को प्रेरित कर रही है की ऑनलाइन ही लेन देन करे क्युकी इसमें सरकार के पास सारा रिकॉर्ड इकट्टा होता रहता है. पर कोई भी ऑनलाइन लेन देन करने से पहले आप सुनिश्चित करे की आपने जो भी लेन देन किया है वो सुरक्षित है.

घर बैठे काम (वर्क फ्रॉम होम) के नाम पर ठगी:

भारत में ये ऑनलाइन ठगी करने में "घर बैठे काम (वर्क फ्रॉम होम)" के नाम पर सबसे ज्यादा ठगी हो रही है. कंपनी पहले आपसे से रजिस्ट्रेशन शुल्क या कस्टम शुल्क के रूप मोटी रकम लेती है फिर थोडा थोडा काम देकर गायब हो जाती है. इनसे बचे. क्युकी काम या जॉब देने वाली कंपनी आपसे रोजगार के नाम पर पैसे नहीं ले सकती क्युकी उसे तो आपको पैसा देना है काम के बदले फिर लेने का सवाल कैसे बनता है. उनके एक्जक्यूटिव आपसे मीठी मीठी बातें करके आपको फसाते है फिर आपको चैन सिस्टम बनाने के लिए कहते है जिसमे आपको भी कमिसन मिलता है. मतलब कंपनी के लिए फिर आप लोगो को फसाते है फिर सारा का सारा चैन सिस्टम ठगी का शिकार होता है. चैन सिस्टम मार्केटिंग नाम की कोई चीज़ नहीं होती ये ध्यान रखे.

लॉटरी के नाम पर ठगी:

भारत में ये ठगी दुसरे नंबर पर है. जिसमे आपको ईमेल या SMS प्राप्त होता है. जिसमे आप विजेता बताये जाते है. या आपके पास फ़ोन आता है आपको लॉटरी लौटरी का विजेता बताया जाता है फिर आपसे कुछ न कुछ रकम रजिस्ट्रेशन शुल्क, कस्टम शुल्क, गवर्नमेंट फीस, सर्विस टैक्स इत्यादि के रूप में पैसे ऐठे जाते है. पहले वो आपसे 500 या 1000 रुपये लेते है जब आपके पैसे फस जाते है फिर लगातार कुछ न कुछ बहाने बनाकर आपसे पैसे लूटते रहते है जब तक की आपको एहसास नहीं हो जाता की आप लुट रहे है. लेकिन तब तक काफी देर हो चुकी होती है.

नकली बैंक ईमेल से ठगी :

इस ठगी में आपको आपके बैंक से ईमेल प्राप्त होती है जो बैंक से न होकर उसकी बिलकुल कॉपी होती है, उस ईमेल में आपसे किसी न किसी लिंक पर क्लिक करके अपने खाते को अपडेट करने के लिए कहा जायेगा. या वो लिंक ही वायरस इत्यादि से भरा हुआ होगा जो आपकी सारी जानकारी को आपके कंप्यूटर से चुरा लेती है. इनसे सावधान रहे. क्युकी बैंक हर बार और बार-बार आपसे कहता है की न तो कोई उसका एक्सक्यूटिव फ़ोन पर या ईमेल पर आपसे कोई निजी जानकारी मांग सकता है और न आपको देना चाहिए. वो निजी जानकारी हो सकती है. जैसे OTP (One Time Password), आपकी जन्मदिन तारीख, आपका कार्ड नंबर, आपका कोई पिन, आपका इन्टरनेट बैंकिंग लॉग इन या आपका पासवर्ड इत्यादि.
online frauds in india, online frauds types, internet frauds cases, internet frauds examples, online shopping frauds, online frauds complaints, internet frauds pdf, make money scamming people online, ऑनलाइन फ्रॉड, ऑनलाइन धोखाधड़ी, धोखाधड़ी meaning in english, धोखाधड़ी की धारा

व्यापारियों के साथ ठगी:

अगर आपके पास कोई दुकान, फैक्ट्री, सर्विस किसी भी चीज़ में डील कर रहे है या आप नए नए इन्टरनेट पर अपने बिज़नेस को स्थापित करने के लिए आये और आपको इन्टरनेट की दुनिया या इन्टरनेट के फ्रौड्स (धोखाधडी) के बारे में कम जानकारी रखते है तो इस टॉपिक का प्रिंटआउट निकाल कर अपने पास रख ले क्युकी ये धोखाधड़ी आपके साथ होने वाली है या हो सकता है की हो चुकी हो. आइये जानिए क्या होगा आपके साथ.
आपको किसी जाने माने पोर्टल या किसी अन्य बिज़नेस पोर्टल के नाम से फ़ोन आएगा. और वो आपसे कहेगा:
"सर में इस... फलाने फलाने ... पोर्टल से बोल रहा हु, जहा भारत के करोड़ो व्यापारी रजिस्टर्ड है जो हमारे साथ अपने बिज़नेस को प्रमोट कर रहे है आप भी अपने प्रोडक्ट्स या सर्विस को नम्बर एक पोर्टल पर फ्री में रजिस्टर्ड करा सकते है, जिसका कोई चार्ज नहीं है." { आप भी खुश हो जाते है ये तो बहुत अच्छी बात है और आप "हाँ" बोल देते है.} फिर वो आपके आइटम्स या सर्विसेज को अपने पोर्टल पर लिस्ट कर देता है, यहाँ से असली खेल शुरू होता है...
1. फिर आपके पास झूटी इमेल्स और कॉल्स आने चालू हो जायेगे जो आपसे आपके आइटम्स या सर्विसेज के बारे में जानकारी लेंगे, प्राइस फिक्स करेंगे, आपसे सेम्प्ल्स भी मगायेंगे उसके बाद न कोई कॉल न कोई जानकारी ...बस सन्नाटा. आपका समय और सेम्प्ल्स का पैसा बर्बाद.
2. फिर अचानक कुछ दिनों बाद उसी पोर्टल से फ़ोन आएगा और बोलेगा, "सर लोग आपके प्रोडक्ट्स या सर्विस को बहुत पसंद कर रहे है और खूब देख रहे है पर आप पर भरोसा नहीं कर पा रहे. उसके लिए आपको हमारे पोर्टल से वेरिफिकेशन कराना होगा. जिसका कुछ चार्ज  जैसे 10000 या 15000 आदि हो सकता है" फिर आप सोचते है सही बात है कॉल्स तो आई थी पर लोग ऑनलाइन ऐसे कैसे विश्वास कर लेंगे और आप उन एक्सक्यूटीव् को बुला कर उस राशि का चेक दे देते है. मतलब आपने बिना किसी बिज़नेस के 15000 रुपये खो दिए.
3. फिर कुछ दिन या महीने गुजरते है और फिर से आपके पास उसी पोर्टल से फ़ोन आता है एक्सक्यूटीव् आपसे कहता है "सर आपने अपने प्रोडक्ट्स का फोटोशूट कराके अच्छी फोटो डाले ताकि ऑनलाइन दिखने में अच्छा लगे, ये तो आप भी जानते है न सर जो अच्छा दिखता है वही बिकता है. क्या फायदा आपके वेरिफिकेशन का." आप सोचते है इस सर्विस को ले लेना चाहिए नहीं तो वेरिफिकेशन के पैसे बर्बाद हो जायेगे और मुझे कोई बिज़नेस भी नहीं मिलेगा. आप फिर से उन्हें 15000-20000 की पेमेंट करते है मतलब 35000 आपके गये वो भी बिना धंधे के.
4. फिर कुछ दिनों बाद फ़ोन आएगा और बोलेगा की "सर आपके फोटोज भी ठीक है, वेरिफिकेशन भी ठीक है, लेकिन वेबसाइट आपकी कंपनी या आपके बिज़नेस के नाम की होनी चाहिए आप तो जानते ही है की आज हर ब्रांड की अपनी वेबसाइट है इसमें सिर्फ 50000 से 60000 तक का खर्चा आएगा. आपको  फिर से उसकी बात सच लगेगी और आप 35000 रुपये बचाने के लिए फिर से उसे 50,000 दे देते है. यानि आपने बिना धंधे के आपको 1 लाख के आस पास चूना लग गया.
5. आपके पास ऐसे कॉल्स आते रहते है और आप उन्हें पेमेंट करते रहते है. जबतक की आप समझ नहीं जाते की आप ऑनलाइन फ्रॉड का शिकार हुए है, छोटे मोटे व्यापारियों के तो धंधे भी बंद हो जाते है इनके चक्कर में आकर.

इसका हल क्या है:

अगर आप अपने धंधे को ऑनलाइन लाना ही चाहते है तो आप अपनी वेबसाइट किसी वेबसाइट बनाने वाली कंपनी से संपर्क करे, उसे अपनी जरुरत बताये वो आपको इस्तेमाल करना सिखाएगा. फिर आप एक लड़का जॉब पर रखे जिसे कंप्यूटर, इन्टरनेट या ऑनलाइन मार्केटिंग की नोलेज हो, वो आपका काम आपके सामने करेगा. इससे आपका एक बार में खर्चा होगा वो भी 10,000 से 25,000  के बीच. उसके बाद डोमेन और वेब होस्टिंग का रेंट भरते रहे हर साल. फिर आपके साथ बिज़नेस देने के नाम पर कोई फ्रॉड नहीं होगा. एक
बात आप समझ ले की जिसको भी ऑनलाइन बिज़नेस करना है वो खुद आपको ढूढेगा अगर आपका धंधा या बिज़नेस ऑनलाइन है आपको खोजने की आव्यश्यकता नहीं है आप बस इमानदारी से प्रोडक्ट या सर्विस की डिलीवरी करे. ग्राहक अपने आप बनेगे.

ऑनलाइन खरीदारी में भी करे समझदारी का इस्तेमाल:

कैश ओन डिलीवरी का इस्तेमाल कम से कम करे या नहीं करे. क्युकी इसमें आप पार्सल के मिलने के बाद पैसा देते है, एक बार आपने पार्सल ले लिया फिर पार्सल के अंदर क्या निकलेगा इसकी जिम्मेदारी कूरियर में काम करने वाले व्यक्ति की नहीं होती है, वो कहेगा की कंपनी या वेबसाइट में शिकायत करो. आप का आर्डर नंबर डिलीट कर दिया जायेगा और आपके पास पेमेंट देने का भी कोई साक्ष्य नहीं होता है. ऐसे फ्रॉड आजकल बहुत ज्यादा हो रहे है.
कूरियर बॉय से पार्सल लेने से पहले ये चेक करे की वेबसाइट द्वारा दिया गया कूरियर ट्रैकिंग नंबर और कूरियर का नाम सामान है या नहीं, कही कोई और तो नहीं जो उस वेबसाइट का इस्तेमाल कर आपको लूट ले जाये. क्युकी जरुरी नहीं की वेबसाइट या कंपनी ही फ्रॉड हो, हो सकता है की वहाँ का कोई स्टाफ आपके साथ धोखाधडी कर रहा हो.
जैसे अभी हाल ही में नोटबंदी के समय बैंक या संस्था फ्रॉड नहीं कर रही थी लेकिन उसमे कार्यरत कुछ एक दो कर्मचारियों ने सिर्फ कुछ परसेंट कमीशन के लिए देश के साथ गद्दारी की.

जब भी आप सामान ऑनलाइन खरीदे हमेशा ऑनलाइन पेमेंट का ही इस्तेमाल करे क्युकी आपके पास बैंक में रिकॉर्ड होता है चाहे आप क्रेडिट कार्ड इस्तेमाल कर रहे हो या डेबिट कार्ड या नेट-बैंकिंग.
आप चाहे तो ऑनलाइन वॉलेट का भी इस्तेमाल कर सकते है. जैसे Payumoney, PayTM, Mobikwik, Airtel Money, OLA Money, FreeCharge, Idea Money, Citi Master Pass, CitrusPay, Ezetap, HDFC PayZapp, ICICI Pockets, Jio Money, Juspay, Axis Lime, MomoeXpress, SBI Buddy, Oxigen, Paymate आदि आदि. वॉलेट से पेमेंट करने का ये फायदा होता है की आप अपने कार्ड या ऑनलाइन बैंकिंग की जानकारी सिर्फ वॉलेट को देते है और किसी को नहीं. जिससे आपकी निजी जानकारी लीक नहीं होती है. आजकल वॉलेट इस्तेमाल करने पर ऑफर भी अच्छे मिल रहे है.

हैक की गई साइटों से बचें :

कुछ वेबसाइट हैक हो जाती है और वेबसाइट कंपनी को काफी बाद में पता चलता है या कभी कभी कंपनी असहाय होती है इसे सोल्व करने में. ऐसी वेबसाइट पर लेन देन से बचना चाहिए. आप उस वेबसाइट का लिंक गूगल सर्च में डालेंगे तो लाल कलर में हैक वेबसाइट की वार्निंग दिखायी देगी. या फिर ऐसी वेबसाइट जिस पर है तो वो कही और रीडायरेक्ट हो रही हो उनसे बचे.

क्लोन वेबसाइट से बचे :

कुछ नकली साइटें बिल्कुल असली साइट की तरह लगती हैं, लेकिन उन्हें आपकी खाता जानकारी को चोरी करने के लिए सेट किया गया है. ध्यान रखे.

अपरिचित वेबसाइट से पहले परिचित हो:

अगर आपने पहली बार किसी वेबसाइट से खरीददारी कर रहे है तो उस वेबसाइट के बारे में इन्टरनेट पॉजिटिव या नेगेटिव रिव्यु या फीडबैक जरुर ढूढे. दिए गए फ़ोन नंबर्स या ईमेल पर कांटेक्ट करे और जानकारी ले. सोशल मीडिया पर भी उसको ढूढ कर देख सकते है. साथ ही साथ ये भी पता करे की वेबसाइट कितनी पुरानी है.

मज़बूत पासवर्ड:

एक से अधिक खातों में पासवर्ड का पुनः उपयोग न करें और उन्हें समय-समय पर बदलना याद रखें, क्युकी पासवर्ड समान होगा तो सारी खाते एक साथ हैक हो सकते है.
कभी भी अपने कार्ड की जानकारी या इन्टरनेट बैंकिंग का पासवर्ड या यूजरनाम अपने ब्राउज़र में सेव नहीं करे. न ही वॉलेट / पर्स में लिख कर रखे. अगर आप इतने सारे पासवर्ड या बैंक अकाउंट नंबर या कार्ड नंबर भूल जाते है और आपको कही न कही लिख कर रखना ही है तो हमेशा कूट भाषा में लिख कर रखे जैसे - A,B,C,D,E,F,G,H = 81,82,83,84,85,86,87 तो DEEA = 84858581, मतलब आपको केवल DEEA लिख कर रखना है, इसे आप अकाउंट नंबर, कार्ड नंबर या पासवर्ड आदि में खुद परवर्तित करके इस्तेमाल कर लेंगे. कूट भाषा भी बहुत सी तरह की होती है सरल या कठिन आप अपने अनुसार उसे सीखकर इस्तेमाल कर सकते है.

व्यक्तिगत जानकारी देने से बचे:

अगर कोई साइट आवश्यकता से अधिक व्यक्तिगत जानकारी मांग रही है (उदा. बैंक खाता जानकारी, सुरक्षा प्रश्न उत्तर या पासवर्ड), तो शक जरुर करे.

टर्म और कंडीशन का अध्ययन करना :

किसी पर भी आंख बंद करके भरोसा करना उचित नहीं होता है, आप ऑनलाइन खरीददारी कर रहे है तो पहले उस वेबसाइट की टर्म और कंडीशन का जरुर अध्ययन करे, ये पहली बार करना होता है एक बार आप उसकी सर्विस या प्रोडक्ट से संतुष्ट हो गए फिर आप कभी भी उस पर आर्डर कर सकते है. टर्म और कंडीशन में आपको Shipping Policy,  Return Policy, Refund Policy का अध्ययन अवश्य ही करना चाहिए.

पेमेंट करने से पहले शक करे:

बिलकुल ऑनलाइन पेमेंट करने से पहले ये देख ले की कोई ऐसी बात तो नहीं जो आपको हज़म न हो रही है मतलब मूल्य की तुलना करे. मान लो किसी प्रोडक्ट का मूल्य 50,000 के आस पास है पर उसी प्रोडक्ट को कोई वेबसाइट सिर्फ 10,000 या ऐसे मूल्य में दे रही हो जो अविश्वनीय हो, या फिर उस पर कोई लकी ड्रा निकाल रही हो. या उस पर कोई बोली लगायी जा रही है, या किसी काम के बदले आपको फ्री में ऑफर किया जा रहा है तो आपको समझ जाना चाहिए की वो ऑफर्स एक तरह से मछली के दाने के समान है आपको फ़साने के लिए.

सुरक्षित वेबसाइट पता:

ऑनलाइन पेमेंट करते समय ये जरुर ध्यान रखे की जहा पर आप अपने कार्ड का नंबर डाल रहे है वो लिंक सुरक्षित है या नहीं. सुरक्षित लिंक से तात्पर्य Green Secure URL से है जो https:// से शुरू होता है क्युकी भारत में ज्यादा पेमेंट गेटवे नहीं है जितने भी है वो आपको पता होने चाहिए ताकि आपको पता रहे की वो भारतीय पेमेंट गेटवे का लिंक है न की कोई विदेशी हैकर का. बैंक पेमेंट गेटवे का लिंक हमेशा सिक्योर होता है.

लेनदेन का एक रिकॉर्ड रखें:

आप हर लेन देन का रिकॉर्ड रखे चाहे वो ईमेल में (डिजिटल) हो या आप प्रिंटआउट भी लेकर रख सकते है ताकि रिफंड लेने की स्थिति में या किसी विवाद के लिए आपके पास साक्ष्य हो.

सुनिश्चित करें जिसके लिए आपने भुगतान किया वही मिला हो :

जब भी आपको ऑनलाइन द्वारा खरीदा हुआ कूरियर मिले उसे अच्छी तरह से चेक करे की कही खुला हुआ तो नहीं है, अगर हो सके तो कूरियर बॉय के सामने ही पार्सल को खोले. उसे झटपट जांच लें कि सब कुछ वैसा ही है जैसा होना चाहिए. मतलब जितनी जल्दी आप किसी ठगी के मामले के बारे में पता कर सकते हैं, आपके पास उसे सकारात्मक रूप से हल करने की उतनी ही बेहतर संभावना होगी.
















10 टिप्स जो आपकी ब्लॉग को Google Search में बना सकती है हीरो - SEO Friendly Blog Post

10 टिप्स जो आपकी ब्लॉग को Google Search में बना सकती है हीरो - How to write SEO Friendly Blog Post which can boost blog traffic instantly. 
जैसा की आप जानते होगे की लिखना भी एक कला या हुनर है, लेखक बनना इतना आसान नहीं है क्युकी तब आपके लिए शब्दों का चुनाव करना बहुत जरुरी होता है क्युकी सही शब्द से कही गयी या लिखी गयी बात आपके ब्लॉग पढ़ने वाले लोगो को शीघ्र समझ में आती है.

उदहारण के तौर पर में आपको ऐसे समझा सकता हु की जब आप स्कूल समय में किसी भी टॉपिक पर निवंध लिखते थे तो पहले उस टॉपिक का शीर्षक, फिर प्रस्तावना, कारण, उपाय, जानकारी, और आखिरी में सुझाव या उस निवंध का अर्थ क्या निकला ये लिखते थे.

अगर कोई आपकी पोस्ट को पढ रहा है तो उसे अंत में यह जरुर समझ में आना चाहिए की उसने क्या सीखा और वो इस पोस्ट को आगे शेयर करके (फेसबुक या ट्विटर आदि) अपने दोस्तों या परिवार सदस्यों की भी मदद कर सकता है या नहीं. इससे आपको भी फायदा होगा और जो पढ रहा है उसे भी फायदा होगा.

तो चलिए अब आपको संक्षिप्त में बताते है की ब्लॉग की पोस्ट कैसे लिखे की ज्यादा से ज्यादा पढ़ने वाले लोगो को समझ में आये और वो लोग आपकी आगे पोस्ट को शेयर करे.

1. ब्लॉग पोस्ट लिखने से पहले सोचे (Think before writing a blog post): 
जब आप कोई ब्लॉग पोस्ट लिखे ये जरुर सोचे की आप इसे क्यों लिख रहे है और लोग इस पोस्ट क्यों पढेंगे. इसमें लोगो का क्या फायदा है क्युकी बिना किसी मतलब के तो वो आपकी पोस्ट को खोल के बैठेगा नहीं. आपकी ब्लॉग पोस्ट में "ज्ञानवोर्थी, मनोरंजक, आश्चर्यजनक, अविष्कार" आदि में से कोई एक लक्ष्य जरुर होना चाहिए. लेकिन एक ही पोस्ट में ये सारे उद्देश्य या लक्ष्य मत डाल देना नहीं तो खिचड़ी हो जाएगी और हाँ झूट किसी भी शर्त पर डालना क्युकी इससे आप अपने रीडर्स का विश्वास खो सकते है. जो भविष्य के लिए अच्छा नहीं होगा.

2. टॉपिक तो सोच लिया पर ब्लॉग पोस्ट को कैसे तैयार करे? (How to prepare a blog post?):
बिलकुल अगर आपने अपना टॉपिक अथवा शीर्षक सोच लिया है तो
सबसे पहले उसकी हैडिंगस की लिस्ट बनाये, ज्यादा से ज्यादा हैडिंगस आपकी पोस्ट को पढ़ने और समझने में आसान बनाएगी.
फिर आप उन हैडिंगस को क्रम में लगाये.
पोस्ट के अंत में जरुर बताये की उस ब्लॉग पोस्ट का सारांश क्या था.
एक या दो फोटो जरुर इस्तेमाल करे जो पोस्ट से सम्बंधित हो.

3. अपने लेख को क्रमानुसार कैसे लिखे? (How to Write Your Articles In Order?):
सबसे पहले पेराग्राफ / अनुच्छेद लिखे
फिर अपनी क्रम की हुयी हैडिंग के अनुसार के लिखे
और अंत में पोस्ट का सारांश लिखे
फिर अपने रीडर्स को धन्यवाद बोले और उन्हें अपनी पोस्ट को शेयर करने के लिए विनम्र निवेदन करे.

4. SEO Friendly पोस्ट कैसे लिखे? (How to Write SEO Friendly Posts?):
ये सबसे महत्वपूर्ण है आपकी पोस्ट SEO के लिहाज़ से अति उत्तम होनी चाहिए जिससे गूगल पर आपकी वेबसाइट या पोस्ट सबसे ऊपर आये, इसके लिए आपको सही शब्दों या keywords का चुनाव करना है.
आपने हैडिंगस की लिस्ट तो बनायीं ही होगी, अब आप उन हैडिंग में से एक एक करके गूगल में सर्च करे. तो आपको keywords मिलने शुरू हो जायेगे जैसे में अपनी ही एक हैडिंग "SEO Friendly Post" को गूगल में सर्च करता हु और उसके बाद गूगल के सर्च रिजल्ट के बाद आप देखेंगे तो गूगल आपको कुछ keywords का सुझाव दे रहा है. मुझे keywords मिले ...

  • seo post description
  • how to optimize blog posts for seo,
  • how to write seo friendly blog posts
  • blog seo tips
  • how to do seo for blogger
  • seo article writing samples
  • does blogging help seo
  • seo plugin for blogger
10 टिप्स जो आपकी ब्लॉग को Google Search में बना सकती है हीरो - SEO Friendly Blog Post
Courtesy / Image : Google Search


आप इन keywords को जो आपकी पोस्ट से मेल खाते हो उन्हें अपनी पोस्ट में जहाँ-जहाँ जरुरत हो वहाँ-वहाँ लिखते जाये.

5. अपने लेख को दुसरो को पढाये (Let teach your article to others):
मित्रो आप अपनी पोस्ट को ब्लॉग पर प्रकाशित करने से पहले आप उन्हें अपने घर के सदस्यों या मित्रो को एक बार जरुर पढवाए, इससे आपको स्पेलिंग की गलती, वाक्य का प्रकार, और शब्दों के सही चयन करने में कुछ सुझाव मिल सकते है फिर जैसे-जैसे आपका अनुभव बढ़ता जायेगा आपको उनकी जरुरत ख़त्म होती जाएगी.

6. पोस्ट (लेख) की लम्बाई कितनी हो? (How much is the length of the post?):
ये भी बहुत महत्वपूर्ण विषय है की आपके लेख की लम्बाई कितनी होनी चाहिए, बिलकुल बताते है - आपको ध्यान रहे की आपके लेख (article) की लम्बाई कम से कम 300 शब्दों में हो, क्युकी गूगल या दुसरे सर्च इंजन को लम्बे article (लेख) बहुत पसंद है. पर जहाँ आपके लेख की लम्बाई 500 शब्दों से ज्यादा होती है वही गूगल तो खुश रहता है पर आपके मित्र बोर होकर पेज बंद कर देते है. तो दोनों खुश रहे ऐसे बैलेंस बनाकर चलना है.

7. अपनी इस पोस्ट को पुराने पोस्ट से लिंक करे (Link this post to your old post):
बिलकुल कोई भी जानकारी आप 300 से 700 शब्दों में नहीं लिख सकते है, उसका कोई न भाग रह ही जाता है तो आप उसके लिए नहीं नयी पोस्ट लिखे और इस भाग को उस भाग के साथ लिंक जरुर करे, इससे आपका रीडर आपकी वेबसाइट पर ही रहकर सारी जानकारी प्राप्त कर लेगा, उसे कही और भटकना नहीं पड़ेगा.

8. अपनी पोस्ट को अपडेट करते रहे (Keep updating your post):
आप अपनी लिखी गयी सभी लेखो पर नज़र रखे की कही वो पुराने तो नहीं हो रहे, मतलब उसमे दी गयी जानकारी बेकार तो नहीं रही, उसे आप समय के साथ साथ अपडेट करते रहे ताकि उस लेख पर नए-नए blog readers आते रहे. गूगल भी आपकी उस पोस्ट अपने सर्च में अपडेट करता रहेगा. इसके लिए पोस्ट में नीचे या सबसे ऊपर अपडेट करने की दिनाँक भी प्रदर्शित कर दे, ताकि आपके ब्लॉग रीडर्स को भी पता चल जाये की आपका ब्लॉग अपडेट रहता है.

9. शब्दों की पुनरावृति न करे (Do not repeat the words):
जब भी आप लेख लिखे तो ध्यान रहे शब्दों की पुनरावृति कम से कम करे और अधिक से अधिक नए शब्दों को लिखे, अगर वही शब्द बार बार आपको अगर मजबूरी में लिखना पड़ रहा है तो आप उस शब्द के पर्यायवाची शब्दों को इस्तेमाल कर सकते है.

10. बिना कॉपीराइट फोटो का इस्तेमाल करें (Use a copyright free photo):
अब आपको अपने लेख में एक या दो फोटो की जरुरत भी होगी क्युकी आपका रीडर्स पोस्ट पढने से पहले उस लेख को देख कर समझ सकता है की ये पोस्ट किस टॉपिक या किसके बारे में है. लेकिन अब आपका प्रश्न होगा की इतनी साड़ी फ़ोटो (images) आप लायेंगे कहा से.
बिलकुल तो आपको बताते चले की इन्टरनेट पर बहुत सी ऐसी फोटोज की वेबसाइट है जो फ्री में images प्रदान करती है वो भी बिना किसी कॉपीराइट के, आप चाहे तो अपने मोबाइल या कैमरा से खिची हुयी फोटोज को उन वेबसाइट पर दुसरो के लिए भी डाल सकते है.
ऐसी वेबसाइटस जहाँ आप मोबाइल फोटोज डालकर पैसे कमा सकते है और फ्री में ब्लॉग के लिए फोटोज भी ले सकते है. - Click Here

सारांश (Summary):
आशा है की आपको इस मेरी पोस्ट से बहुत कुछ सीखने को मिला होगा की, कैसे पोस्ट लिखने से पहले जरुर इन बातों का ध्यान रखें की  क्या करना है और क्या नहीं करना है. अगर फिर भी आपको लगता है की कोई जरुरी बात मैंने छोड़ दी है तो जरुर हमें कमेंट सेक्शन के द्वारा मुझ तक पंहुचा सकते है. में कोशिश करुगा की अतिशीघ्र आपके प्रश्न के अनुसार इस लेख को अपडेट कर दू.
और आपसे विनम्र आग्रह है की आपको मेरी ये कोशिश आपको पसंद आ रही है तो जरुर अपने मित्रो के साथ फेसबुक एवं ट्विटर पर साझा करे.

इस सीरीज का पहला टॉपिक देखे : कैसे फ्री में ब्लॉग बनाये? और ब्लॉग्गिंग या कमाई को शुरू करे?

Next Topic : How to earn by YouTube in Hindi?
अगला विषय : YouTube के द्वारा आप कैसे कमाई कर सकते है? जानिए आसान स्टेप्स के साथ हिंदी में

Upload Photos / Images by Smartphone and Earn Money

If you have good quality camera phone or Smartphone then you can also earn by clicking images and capture videos. We are finding for you top websites where you can earn money by upload unique clicks from your Smartphone.

You can also earn money by sharing images or videos on Face book, Twitter and Whatsapp groups.

Who purchase these images?
These images can be purchase by advertisement companies, Web Designers and other companies for any purpose.

So don't wait, don't your Smartphone camera into part time online earning:

shutterstock.com
Shutterstock, a global technology company, has created the largest and most vibrant two-sided marketplace for creative professionals to license content - including images, videos and music - as well as innovative tools that power the creative process.



101img.com is t allows you to make money sharing videos and images on whatsapp, social networks. Choose the video (Hundreds of viral videos Funny, Crazy, Girls and so on) and share them with your friends on Whatsapp and Facebook. 

dreamstime.com
Dreamstime.com is very good place to share your all type high definition images and earn revenue sharing in each sells.

crestock.com
Crestock is a growing player in micropayment royalty-free stock photography, helping clients with small budgets find creative images for their projects.









Tags: upload photos and earn money in india, upload image on google and earn money, get paid for pictures of yourself, sell photos online india, how to make money selling photos of yourself, best place to sell photos online, sell my photos online for money, sell photos app, best app to sell photos 2017, make money taking pictures with your phone, get paid for pictures of yourself, sell photos online india, best place to sell photos online, upload photos and earn money, how to make money selling photos of yourself, best app to sell photos 2017,



Sponsored Links
 
Back To Top
Copyright © 2014 PradeepTomar : Mobile USSD Codes, Bank Balance Check Number.

Privacy Policy | Disclaimer | Terms of Service | Sitemap | Copyright Policy |