Whats New

कैसे कुछ फ़र्ज़ी B2B वेबसाइटस व्यापारियों को चूना लगा रही है?

जैसा की  मेने सोचा था की लोगो को ऑनलाइन फ्रॉड के बारे में समय समय पर बताता रहूँगा।  
एक तो आपको कोई सर्विस दी जाये और वो उस हिसाब से काम न करे जिस हिसाब से बताया गया हो। जिसका उदहारण यहाँ से आप देख सकते है। 
दूसरा फ्रॉड चोरी होती है जिसमे आपको बेवकूफ बनाकर पैसा लूटा जाता है। जिसका उदहारण भी यहाँ से आप देख सकते है। 
आज में जानकारी लेकर आया हुआ B2B मार्केटप्लेस के बारे में, की कैसे भारत में कुछ B2B मार्केटप्लेस बिज़नेस देने के नाम पर सेलर , फैक्ट्री मालिक , बिज़नेसमैन के साथ फ्रॉड करते है।

Indian Manufacturers के साथ ऑनलाइन फ्रॉड :

प्रोडक्ट की मैन्युफैक्चरिंग करने वाले लोगो के पास पैसा बहुत होता है। वो बात अलग है कि हो सकता है उसने बैंक से मोटा लोन लिया हो। लेकिन छोटे मोटे इन्वेस्टमेंट ये कम सोचते है क्युकी इन्हे बड़ी रकम फसने का डर होता है।  

अब उस सेलर के पास ऑनलाइन कॉल सेंटर से कॉल जाती है की -

" सर में ABC / XYZ कंपनी से बोल रहा हु, क्या आप अपने बिज़नेस को ऑनलाइन लाना चाहते है, ये एक दम फ्री है सिर्फ आपको अपने प्रोडक्ट्स हमारे मार्किटप्लेस पर लिस्ट करने है।  साथ ही साथ आपको अपनी दुकान का बिज़नेस पेज भी मिलेगा और कैटलोग भी।  आपके पास पूरे भारत से कॉल आएगी "

बस  फिर क्या इतना सुनते ही डीलर या डिस्ट्रीब्यूटर अपने प्रॉफिट का सपना सजा लेता है , उसे लगता है की अगर मुझे ऑनलाइन से पूरे भारत से कस्टमर के फ़ोन आएंगे तो मेरा बिज़नेस दिन दुगुना और रात चौगुना हो जायेगा। और वो  फ्री के लालच में  अपनी लिस्टिंग  कर देता है।

यहाँ से जाल शुरू होता है फ़साने का और लूटने का
उसे कुछ महीनो तक फ्री में ही इन्क्वारी मिलना चालू हो जाती है जो मार्केटप्लेस के लड़के ही उसे भेजते है। लेकिन उसमे से उसकी कोई भी डील नहीं हो पाती।  होगी भी कैसे अगर सच में कस्टमर ने भेजी हो तब न।

आपके पास फिर से कॉल उसी कंपनी से आती है कॉल सेंटर वाला व्यक्ति बोलता है की
" सर जैसा की में चेक का पा रहा हु की आपके पास इन्क्वारी तो आ रही है लेकिन डील कन्फर्म नहीं हो रही है "
आप कहते हो क्या कारण है इसके पीछे ?

व्यक्ति बोलता है -  "सर कस्टमर आपकी प्रोफाइल तो देख रहे है लेकिन आप पर भरोसा नहीं कर रहे"
आप कहोगे। .. क्या मतलब?
व्यक्ति बोलता है - "सर इसके लिए आपको आपने बिज़नेस को वेरीफाई कराना होगा। "
आप - वो कैसे?
व्यक्ति - "इसके लिए हमारी टीम आपकी कंपनी या दुकान पर आएगी।  आपके डॉक्यूमेंट चेक करके आपके प्रोडक्ट्स की फोटो लेगी।  इसके बाद आपकी प्रोफाइल में वेरिफ़िएड सेलर का बैज दिखने लगेगा।  "
आप - इसमें कितना खर्चा आएगा ?
व्यक्ति - ज्यादा कुछ नहीं सर , साल का सिर्फ 10000 रुपये के आस पास, और आप ज्यादा कुछ न सोचकर अपने बिज़नेस के लिए छोटा इन्वेस्टमेंट कर लेते है। क्युकी आप सोचते है की अब आपको ऑनलाइन आर्डर मिलने शुरू हो जायेगे।

फिर ऐसे ही ये लोग तरह तरह की सर्विसेज देने के लिए कॉल करते है और आप लुटते रहते है।
ये आपसे पैसे लूटेंगे। -
  • ट्रस्ट सील देने के नाम पर। 
  • आपके प्रोडक्ट अपडेट करने के नाम पर 
  • आपकी वेबसाइट को उनके ही मार्केटप्लेस की वेबसाइट पर प्रथम पेज पर लाने के लिए। 
  • वेरिफ़िएड लिस्टिंग करने के लिए 
  • स्लाइड बदलने के लिए
  • वेबपेज का कलर बदलने के लिए 
  • डोमेन के लिए, आदि आदि 
और सबसे बड़ी बात की आपको आपके ही वेबपेज का एडमिन लॉगिन नहीं देंगे। आप उस डोमेन या वेबसाइट को किसी दूसरे सर्विस के पास ट्रांसफर नहीं कर सकते। 


मुझे विश्वास है जब तक आपको इस लूट का पता चलेगा तब तक आप लाखो रुपये दे चुके होंगे।  और यदि कोई इनके द्वारा बिज़नेस मिलता है तो मेरे हिसाब से आप सिर्फ भाग्यशाली है या आपके प्रोडक्ट यूनिक है।

जाने, कैसे कुछ फ़र्ज़ी B2B  वेबसाइटस व्यापारियों को चूना लगा रही है?



फिर क्या करे -
  1. खुद डोमेन या वेबसाइट का नाम ख़रीदे।  आप चाहे तो यहाँ से खरीद सकते है।
  2. अपनी वेबसाइट को डेवेलोप करे या करवाए
  3. खुद टेक्निकल है तो अच्छी बात है नहीं तो कोई अच्छा एम्प्लोये जिसे ऑनलाइन का काम आता हो उसे रख ले।  वो आपका काम भी देखेगा और थोड़ा बहुत आप भी सीखेंगे.
  4. आपकी खुद की वेबसाइट आपकी अपनी प्रॉपर्टी की तरह है
  5. जितना मार्केटिंग करोगे उतनी सेल्स निकलेगी।

तो क्या B2B  वेबसाइटस को बिलकुल इग्नोर करे ?
नहीं, सबसे पहले आप हर B2B वेबसाइट पर फ्री में लिस्टिंग करे।  फिर देखे रियल buyers कहा से आ रहे है या मिल रहे है। उसके बाद उस मार्किट प्लेस के गूगल में रिव्यु पढ़े। फिर आप सोच सकते है मेम्बरशिप के लिए।



No comments

I am waiting for your suggestion / feedbacks, will reply you within 24-48 hours. :-)

Thanks for visit my Blog