Whats New

कैसे फ्री में घर बैठे करें Artificial Intelligence कोर्स?

 भारत में शिक्षा निति में सुधार के तुरंत बाद भारत सरकार ने देश के छात्रों और लोगो को भविष्य में आने वाली  नयी टेक्नोलॉजी ( जिसे अर्टिफिकल इंटेलिजेंसी भी कहा जाता है) को सिखाने के लिए अब फ्री में ऑनलाइन कोर्स जारी किया है। भारत में ये मेरे हिसाब से शायद पहली तरह का शिक्षा के क्षेत्र में प्रयोग है, जहाँ अब सरकार देश के लोगो को फ्री में टेक्नोलॉजी के बारे ऑनलाइन क्लास लेगी। 

देश के छात्रों के लिए ये सुनहरा अवसर है की वो बिना किसी महीने की फीस आदि दिए बिना इस कोर्स को ऑनलाइन कर सकते है। अर्थात आत्म निर्भर भारत कैसे बनेगा इसके लिए सरकार दृढ़ संकल्प्ति है। इसकी झलक HRD के केंद्रीय मंत्री डॉ. रमेश ने दी। HRD के केंद्रीय मंत्री डॉ। रमेश पोखरियाल निशंक ने एक ट्वीट के माध्यम से शिक्षार्थियों को इस कोर्स के लिए आमंत्रित करते हुए कहा, “AI क्या है? वास्तविक दुनिया की समस्याओं को हल करने के लिए एआई का उपयोग कैसे करें? इस तरह के सवाल और जवाब जाने। 

भारत सरकार की पहल -  फ्री में घर बैठे करें Artificial Intelligence कोर्स


अगर नहीं जानते तो जाने आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस क्या होता है

क्या है AI (Artificial Intelligence)?


आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस कंप्यूटर विज्ञान की वह शाखा है जो कंप्यूटर के इंसानों की तरह व्यवहार करने की धारणा पर आधारित है। इसके जनक जॉन मैकार्थी हैं। Artificial Intelligence मशीनों की सोचने, समझने, सीखने, समस्या हल करने और निर्णय लेने जैसी संज्ञानात्मक कार्यों को करने की क्षमता को सूचित करता है।
Artificial Intelligence पर शोध की शुरुआत 1950 के दशक में हुई थी। आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का अर्थ है कृत्रिम तरीके से विकसित बौद्धिक क्षमता। अर्थात मशीनी वुद्धि। 
इसके ज़रिये कंप्यूटर सिस्टम या रोबोटिक सिस्टम तैयार किया जाता है, जिसे कृत्रिम दिमाग या बुद्धि आधार पर संचालित करने का प्रयास किया जाता है जिस प्रकार एक मानव मस्तिष्क कार्य करता है।
AI पूर्णतः प्रतिक्रियात्मक (Purely Reactive), सीमित स्मृति (Limited Memory), मस्तिष्क सिद्धांत (Brain Theory) एवं आत्म-चेतन (Self Conscious) जैसी अवधारणाओं पर कार्य करता है।

AI (Artificial Intelligence के लाभ - 

भारत सरकार (नीति आयोग) को अनुमान है की भारत में AI (Artificial Intelligence को अपनाने एवं बढ़ावा देने से वर्ष 2035 तक भारत की GDP में 957 बिलियन डॉलर की वृद्धि के साथ ही और वर्ष 2035 तक भारत की वार्षिक वृद्धि दर को 1.3 प्रतिशत तक बढ़ने की संभावना है।
कृषि में इसके से यह किसानों की आय तथा कृषि उत्पादकता बढ़ाने और फालतू के खर्चे को कम करने में योगदान कर सकता है।
AI गुणवत्तापूर्ण स्वास्थ्य सेवाओं तक लोगों की पहुँच को बढ़ा सकता है। इसकी मदद से शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार किया जा सकता है एवं शिक्षा तक लोगों की पहुँच को बढ़ाया जा सकता है। इसकी सहायता से ही सरकारी प्रशासन में दक्षता को बढ़ाया जा सकता है। इसके अतिरिक्त व्यापार एवं वाणिज्य में इसका लाभ होगा।

SWAYAM,  The Indian Ministry of Human Resource and Development (MHRD) द्वारा UGC MOOCs में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस पर एक समर्पित पाठ्यक्रम तैयार किया है। अर्थात भारत अब बदलती दुनियां के लिए बदलने के लिए तैयार हो रहा है। 

AI (आर्टिफीसियल इंटेलिजेंसी) का  कोर्स कैसे उपलब्ध है?

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस कोर्स -

यह AI (आर्टिफीसियल इंटेलिजेंसी) का  कोर्स 36 लर्निंग मॉड्यूल के साथ डिज़ाइन किया गया है जहां पर हर विषय पर बहुत विस्तृत तरीके से चर्चा की जाती है। इसके अलावा, मॉड्यूल को विस्तृत तरीके से सीखने के लिए MHRD वेबसाइट से डाउनलोड करने योग्य पीडीएफ सामग्री के साथ-साथ, आपको इसके विशेज्ञों द्वारा वीडियो भी मिलेंगे। अर्थात यह एआई पाठ्यक्रम किसी भी शिक्षार्थी को वेबसाइट से सीधे ई-पाठ (आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस नोट्स PDF)  का प्रिंट-आउट लेने की सुविधा भी देता है।

यह Artificial Intelligence प्रोग्राम कोई भी सीख सकता है। और सभी के लिए फ्री है। हालाँकि यह उन छात्रों के लिए विशेष वरदान सावित होगा जो compluter या IT के क्षेत्र में जाने की इच्छा रखता है।

कुछ मॉड्यूल इस प्रकार हैं जो आपको सीखने को मिलेंगे )-

  • What is AI, what is an AI technique, which problems need AI attention?
            (AI क्या है, AI तकनीक क्या है, किन समस्याओं पर AI ध्यान देने की आवश्यकता है?)
  • State Space Search
  • Neural Networks
  • Unguided Search methods
  • Heuristic and other search methods
  • Knowledge representation using NMRS and Probability
  • Genetic algorithm & Travelling salesman problem
  • ES architecture and Knowledge Engineering
  • Machine Learning
अगर आप भूले नहीं है तो ये भी बता दू की भारत सरकार ने अभी पिछले ही कुछ सालो में दूरदर्शन की फ्री डिश पर बहुत से शैक्षणिक टीवी चैनल्स का प्रसारण शुरू किया है, जो देश की प्रसिद्द यूनिवर्सिटी से, और प्रसिद्द प्रोफेसर के द्वारा ऑनलाइन कोचिंग देते है। डीडी फ्रीडिश पर चैनल इस प्रकार है -

e-Vidhya - इ-विद्या चैनल न. 1  से लेकर 12 तक के चैनल, क्लास 1 से लेकर क्लास  12 तक है। 

ठीक इसी प्रकार 

MHRD  - MHRD के 33 टीवी चैनल्स भी चल रहे हो, जो की क्लास 12 से आगे के लिए है।  जो की सब्जेक्ट पर आधारित है, जैसे की फिजिक्स, केमिस्ट्री, और विज्ञान के लिए अलग अलग चैनल है, जो प्रसिद्द प्रोफेसरो के द्वारा पढाई जाती है। 

कैसे ज्वाइन करें ऑनलाइन आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस कोर्स?

‘स्वयं (SWAYAM)’ पोर्टल पर विभिन्न क्षेत्रों के फ्री ऑनलाइन कोर्स चलाये जा रहे हैं, इनमें से आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस के कोर्सेस भी शामिल हैं। स्वयं (SWAYAM)’ पर संचालित किये जा रहे आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस कोर्सेस को 58 हजार से अधिक प्रोफेशनल्स और छात्र-छात्राएं ज्वाइन कर चुके हैं।

आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस कोर्सेस को ज्वाइन करने के लिए आपको swayam.gov.in पोर्टल पर विजिट करना होगा। इसके बाद ‘कोर्स कैटलॉग’ में ब्राउज करके या ‘सर्च कैटलॉग’ के माध्यम से आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस कोर्सेस सर्च करना होगा। इसके बाद प्राप्त रिजल्ट्स में से अपनी इच्छानुसार कोर्स का चुनाव करके ज्वाइन या ऑनलाइन इनरोल कर सकते हैं। 

इसका सीधा सीधा मतलब है, की सरकार ने अब देश को शिक्षा देने के लिए कमर कस ली है। देश के छात्रों को भी चाहिए की टेक्नोलॉजी के द्वारा, टेक्नोलोजी के लिए खुद को जल्दी से जल्दी Technology अपग्रेड करे या करने की कोशिश करे। 

आर्टिफीसियल इंटेलिजेंस पाठ्यक्रम (Artificial Intelligence Course) के इस कोर्स को फ्री में सीखने के लिए आप आधिकारिक यूजीसी की वेबसाइट पर जा सकते हैं।

No comments

I am waiting for your suggestion / feedbacks, will reply you within 24-48 hours. :-)

Thanks for visit my Blog